गुजरात की बरोडा पुलिस ने किया दलित युवक का मानसिक और शारीरिक शोषण

- January 24, 2017
उनाकांड बाद गुजरात कि ये सबसे बडी घटना सामने आइ है जिसमे पुलिस ने दलित युवक का शोषण किया है।

गुजरात के बड़ोदरा में दलित युवक को ब्रा और घाघरा पहनाया, और अब उसके एनकाउंटर की साजिश
 साथियो एवं मिडिया के मित्रो मेरे (जिगनेश मेवानी के मोबाइल के उपर हाल ही में विनुभाई भमानिया नामके दलित भाई का फ़ोन आया जिनका मो नं (+919727460754) है.(Audioओडियो सुन ने के लिये क्लिक करे)
इस भाई के साथ मेरा जो संवाद हुआ उसका गुजरती ओडियो इस पोस्ट के साथ में रख रहा हु।
जिसमे विनुभाई मुझे यह बता रहे है कि किस तराह उनके भाई के साथ कस्टोडियल टॉर्चर हुआ और उनके भाई की जान को खतरा है,
विनुभाई ने बताया कि 2 दिन पहले गुजरात के महिसागर ज़िले के डाकोर तहसील के थाने में उनके भाई जेंतिभाई भमानिया के ऊपर किसी लड़की के साथ छेड़खानी करने पर पोस्को की धारा के अंतर्गत गिरफ़्तारी हुई,
गिरफ़्तारी के बाद उन्हें अदालत में पेश करने के बजाय जातिवादी दबंग पुलिसने  जेंतिभाई बामनिया के गुप्तांगो में इलेक्ट्रिक  का करंट दिया गया ,उनकी भुदा में डंडा डाला , फिर उन्हें ब्रा और घाघरा पहना कर पूरे गाँव मे घुमाया जिसके चलते उन्होंने इस अपमान से आहत होकर पुलिस थाने मे आत्महत्या करने की कोशिश की ऐसा मुजे उनके बड़े भाई विनुभाई बामनिया ने अभी अभी इस ऑडियो में बताया है,
विनुभाई का यह भी कहना है कि उनके भाई की जान को खतरा है,
उनके भाई को ब्रेन हेमरेज हो गया है और पुलिस उनके परिवार में से किसी को बड़ोदरा के सायजीरावगंज अस्पताल में अपने भाई को मिलने तक नहीं दे रहे है।