गुजरात मे सफाई कामदारो द्वारा अपनी मांगो को लेकर चल रहे आमरण अनशन के आंदोलन का सरकार पर हुवा असर...

- October 22, 2016
हमारा संधर्ष सफलता की और...
गुजरात मे सफाई कामदारो द्वारा अपनी मांगो को लेकर चल रहे आमरण अनशन के आंदोलन का सरकार पर हुवा असर..
कच्छ के जिल्ला कलेकटर ने नगरपालिका विभाग के प्रादेशिक नियामक को ओफीसियल लेटर भेजकर 138 सफाईकर्मीओ को परमेनन्ट सरकारी नौकरी देने को लेकर कीया अभिप्राय.


गुजरात मे अलग-अलग पांच जगहो पर बडी संख्या मे सफाई कामदार अपनी मांगो को लेकर आमरण अनशन  पर बैठे हुवे है.
सफाई कामदारो की समस्याओ को लेकर भुज(कच्छ) मे पिछले बारह दिनो से कलेकटर ओफिस के सामने केम्प लगाकर आमरण अनशन पर बैठे भुज नगरपालिका संयुक्त कर्मचारी संध के अध्यक्ष हरेशभाइ राठोड और उनकी टीम की महेनत अब रंग लाती हुई दिखाई दे रही है.
सामाजिक एकता और जागृति मिशन के सभी युवा साथी सफाई कामदारो के आंदोलन मे मदद करके आंदोलनकारीओ का न केवल होंसला बढा रहे है बल्कि सरकार मे भी कामदारो के पक्ष मे न्याय के लिए लड रहे है.
भुज नगरपालिका संयुक्त कर्मचारी संध के सभी कर्मचारीओ की अपने हक्क की लडाई जारी है, सफाई कामदारो द्वारा शोषण के खिलाफ चलाए जा रहे आंदोलन से जुडने एवं सपोर्ट करने के लिए हम आप सभी दोस्तो को नम्र अपील करते है, ताकी गुजरात के सफाईकर्मीओ को जल्द से जल्द न्याय मिले.
हम मरेंगे लडते लडते, नहि लडाई मरने वाली..
मैदान न होगा खाली, जब तक न हो खुशाली...

निवेदक :
सामाजिक एकता और जागृति मिशन